श्रीगुरु उवाच


श्रीराम स्वयं ईश्वर अवतार थे । पाण्डवोंके कालमें पूर्णावतार श्रीकृष्ण थे । छत्रपति शिवाजी महाराजके कालमें समर्थ रामदासस्वामी थे । इससे ज्ञात होता है कि ईश्वरीय राज्यकी स्थापना ईश्वर स्वयं करते हैं अथवा सन्तोंसे करवा लेते हैं । अब हिन्दू राष्ट्रकी स्थापना ईश्वर स्वयं करें अथवा सन्तोंसे करवाकर लें, इस हेतु हमें उनका भक्त बनना आवश्यक है ।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


विडियो

© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution