हिन्दुओंके बुद्धिभेद करनेसे उनका बलहीन होना


बुद्धिप्रामाण्यवादियोंद्वारा हिन्दुओंका बुद्धिभेद करनेसे उनका बलहीन होना तथा इस कारण उनकी स्थिति चिन्ताजनक होना
मुसलमानोंमें धर्मविषयी बुद्धिभेद करनेवाले बुद्धिप्रामाण्यवादी नहीं हैं; इसलिए वे एकजुट हों और यही कारण है कि वे आज सम्पूर्ण विश्वपर भारी पड रहे हैं । इसके विपरीत बुद्धीप्रामाण्यवादियोंने हिन्दुओंका बुद्धिभेद किया इससे हिन्दू साधनासे दूर हो गए हैं तथा इसलिए बलहीन हुए हैं ।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution