साधको सावधान ! तीसरे वैश्विक युद्धकी पृष्ठभूमि बनना आरम्भ हो चुकी है ।


साधको ! क्या आप सबको समझमें आ रहा है कि तीसरे विश्वयुद्ध होनेकी पृष्ठभूमि विश्वपटलपर होने हेतु घटनाक्रम आरम्भ हो चुका है ! एक बार विश्व युद्ध आरम्भ हो गया तो साधना करना और भी कठिन हो जाएगा; क्योंकि उस समय प्राणको बचाना हमारा प्रथम ध्येय होगा चाहे, वह स्वयंके प्राण हों, अपने कुटुम्बके प्राण हों या साधकोंके हों या हिन्दू बन्धुओंके हों; अतः समय रहते अधिकसे अधिक समय यथाशक्ति साधना एवं सेवा करें ! ज्ञात रहे, आग लगनेपर कुआं नहीं खोदा जाता है । जैसे आग बुझाने हेतु पूर्वसे ही उपाययोजना करना पडती है, उसी प्रकार अपनी साधनाके संस्कारको विध्वंसक काल आनेके पूर्व ही दृढ कर लें ! इस बार विध्वंसका काल छह वर्ष रहेगा, एक बार हम बच सकते हैं; परन्तु छह वर्ष बचने हेतु मात्र अखण्ड गुरुकृपा या ईश्वर कृपा चाहिए ! यह ध्यानमें रख, साधना करें !

– (पू.) तनुजा ठाकुर (संस्थापिका, वैदिक उपासना पीठ)



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


विडियो

© 2021. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution