ईसाई लडका-मुसलमान लडकी, सनातन धर्ममें ‘वापसी’कर लिए सात फेरे, बरेलीके अगस्त्य मुनि आश्रममें हुआ विवाह


१ अप्रैल, २०२२
उत्तर प्रदेशके बरेली जनपदमें एक ईसाई लडके और मुसलमान लडकीने हिन्दू विधि-विधानसे विवाह किया है । विवाह बुधवारको (३० मार्च २०२२ को) बरेलीके अगस्त्य मुनि आश्रममें सम्पन्न हुई । हिन्दू संगठनके लोग इस समारोहमें सम्मिलित हुए । कन्यादान मन्दिरके महन्तने किया । मन्दिरके महन्त केके शंखधरने इसकी जानकारी दी है ।
‘मीडिया’ विवरणके अनुसार ईसाई वरका नाम सुमित और मुसलमान वधूका नाम नूर बी है । सुमित बरेली और नूर बी पीलीभीतकी रहनेवाली है । दोनों १२वीं कक्षासे          एक-दूसरेसे परिचित थे । कालान्तरमें जब विवाहका निर्णय किया तो धर्मके आधारपर उनका विरोध हुआ । सुमितको सनातन संस्कार प्रिय थे; इसलिए उसने नूरसे हिन्दू बन विवाहका प्रस्ताव रखा । इस प्रस्तावको नूरने तुरन्त             मान लिया ।
विवाहके पश्चात सुमित और निशाने सनातन धर्मके संस्कारोंको पालन करनेका संकल्प लिया । निशाने बताया, “मैं वयस्क हूं । सभी निर्णय सोच-समझकर लिए हैं । मैं अपने पतिके साथ दूर किसी अन्य नगरमें जाकर सुखसे रहूंगी । मैं मां दुर्गाकी भक्त हूं । आनेवाले नवरात्रसे मैं उनका व्रत भी रखूंगी ।”
इस विवाहको करवानेवाले अगत्स्य मुनि आश्रमके महन्त केके शंखधारको हत्याकी धमकी मिल रही है । महन्तने बताया कि यह धमकी ‘जैश-ए-मोहम्मद’का नाम बताकर दी जा रही है ।
      जहां एक ओर, पाश्चात्योंका अनुसरणकर तथाकथित हिन्दू विदेश जाकर विवाह कर रहे हैं । ऐसेमें नूर और सुमितका यह विवाह, समाजके अन्य पन्थोंके लिए एक उदाहरण है । हिन्दुओंको इनका संरक्षण करना चाहिए । – सम्पादक, वैदिक उपाासना पीठ
 
 
स्रोत : ऑप इंडिया


Leave a Reply

Your email address will not be published.

सम्बन्धित लेख


सूचना: समाचार / आलेखमें उद्धृत स्रोत यूआरऍल केवल समाचार / लेख प्रकाशित होनेकी तारीखपर वैध हो सकता है। उनमेंसे ज्यादातर एक दिनसे कुछ महीने पश्चात अमान्य हो सकते हैं जब कोई URL काम करनेमें विफल रहता है, तो आप स्रोत वेबसाइटके शीर्ष स्तरपर जा सकते हैं और समाचार / लेखकी खोज कर सकते हैं।

अस्वीकरण: प्रकाशित समाचार / लेख विभिन्न स्रोतोंसे एकत्र किए जाते हैं और समाचार / आलेखकी जिम्मेदारी स्रोतपर ही निर्भर होते हैं। वैदिक उपासना पीठ या इसकी वेबसाइट किसी भी तरहसे जुड़ी नहीं है और न ही यहां प्रस्तुत समाचार / लेख सामग्रीके लिए जिम्मेदार है। इस लेखमें व्यक्त राय लेखक लेखकोंकी राय है लेखकद्वारा दी गई सूचना, तथ्यों या राय, वैदिक उपासना पीठके विचारोंको प्रतिबिंबित नहीं करती है, इसके लिए वैदिक उपासना पीठ जिम्मेदार या उत्तरदायी नहीं है। लेखक इस लेखमें किसी भी जानकारीकी सटीकता, पूर्णता, उपयुक्तता और वैधताके लिए उत्तरदायी है।

विडियो

© 2021. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution