उत्तिष्ठ कौन्तेय – इस्लामका खरा स्वरुप


तीन बच्चे होनेपर भी दूसरी पत्नीसे बच्चे न होनेपर धर्मान्ध करना चाहता था तीसरा विवाह, दोनों पत्नियोंको पीटा !
हैदराबादमें एक मुस्लिम युवकद्वारा तीसरा विवाह करनेके लिए अपनी दो पत्नियोंको मारने-पीटनेका प्रकरण सामने आया है । एक २६ वर्षीय महिलाने अपने पतिपर आरोप लगाए हैं, महिलाने बताया कि लगभग चार वर्ष पूर्व उसने मोहम्मद खानसे विवाह किया । यह मोहम्मद खानका दूसरा विवाह था । जब उसने अपनी दूसरी पत्नीसे तीसरा विवाह करनेकी बात कही तो उसने अस्वीकार कर दिया । इसके पश्चात मोहम्मदने अपनी पत्नीको बुरे ढंगसे पीटा । मोहम्मदकी पहली पत्नीसे तीन बच्चे हैं और तीसरा बच्चा मात्र दो सप्ताहका है ।
मोहम्मदकी पहली पत्नीका नाम आएशा (परिवर्तित नाम) है । आएशाने बताया कि दूसरी पत्नी बच्चे नहीं कर सकती । आएशाके अनुसार, “उसने दूसरा विवाह करनेके लिए मुझसे कहा कि वह हमारे बच्चोंकी देखभाल करेगी ।” अब खान तीसरा विवाह करना चाहता है । उसका कहना है कि उसकी दूसरी पत्नीके बच्चे नहीं हो सकते; इसलिए वह तीसरा विवाह करना चाहता है ।
मोहम्मदकी दोनों पत्नियोंने दावा किया कि वह तीसरा विवाह करनेके लिए उन्हें पीट रहा है और मानसिक रूपसे भी प्रताडित कर रहा है । दोनोंने ‘एसo आरo नागर पुलिस स्टेशन’में लिखित परिवाद प्रविष्ट कराई है ।
इस्लामके ठेकेदार दावा करते हैं कि महिलाओंको जितना आदर इस्लाममें मिलता है, उतना किसी धर्ममें नहीं मिलता । यह आदर कैसा होता है ?, ऐसी महिलाएं ही जानती होंगी, जिनके रहते उनके पति दूसरा, तीसरा और चौथा विवाह कर लेते हैं । वस्तुत: धर्मान्ध, ऐसा करके मौलवियों व इस्लामका आदेश पालन ही कर रहा है कि जितने विवाह करो, जितने बच्चे करो और फैल जाओ व अन्योंको अल्पसंख्यक बनाकर वहांसे भगा दो ! मोहम्मद तीसरा विवाह करना चाहता है; क्योंकि दूसरी पत्नीको बच्चे नहीं हो सकते हैं, जबकि उसको पहलेसे ही तीन बच्चे हैं ! भारत शासन कुकुरमुत्तेकी भांति फैलनेवाली इस संख्याको रोकने हेतु कोई कडा पग उठाए, यह राष्ट्रकी सुरक्षा हेतु आवश्यक है !


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution