उतिष्ठ कौन्तेय


उतिष्ठ कौन्तेय (१९/०४/२०२०)

१. बिहारके वारिसलीगंजमें शुक्रवार, १८ अप्रैलको मुहम्मद इरफानने लगभग साठ जिहादियोंके साथ पहुंचकर हिन्दुओंकी ‘बस्तियों’में अन्धाधुन्ध गोलियां चलाकर ५५ वर्षीय रविदास नामक व्यक्तिको उसके निवाससे बाहर निकलकर हत्या कर दी तथा अन्य हिन्दुओंको भी चोटिल कर डाला । आठ अपराधियोंको छोडकर शेष सभी भागनेमें सफल रहे, जिनको अभीतक बन्दी नहीं बनाया जा सका है ! उल्लेखनीय है कि इससे पूर्व इनके मध्य कहासुनी हुई थी, जिसे स्थानीय पंचायतने सुलझाया था और जिहादियोंको बचानेका प्रयास किया गया था ।
     देखते क्या है, हिन्दू बहुल देशमें आज हिन्दू द्वितीय श्रेणीका नागरिक बनकर रह गया है । यह हिन्दुओंके कथित भाईचारे और शासनके तुष्टिकरणके कारण ही है । अतः हिन्दुओ ! अब ऐसे प्रकरणसे सीख लें !
———-
२. बिहारके दरभंगामें एक गांवमें सर्वेक्षणके लिए गई कुछ आशा कार्यकर्ताओंके दलपर जिहादियोंने आक्रमण कर दिया और फिर उनके वस्त्र भी खींचे । इसके पश्चात परिवादके (शिकायतके) अनुसार पुलिसने एक आरोपीको बन्दी बना लिया ।  इसपर पुलिस-प्रशासनके अधिकारियोंको धर्मान्धोंके विरोधका सामना भी करना पडा तथा धर्मान्धोंने आरोपीको पुलिसके वाहनसे उतारनेका भी प्रयास किया !
    निश्चित ही यह नीतिश कुमारजीके धर्मान्धोंके तुष्टिकरणका ही परिणाम है, जो उनके भय ही समाप्त हो चुका है ! ऐसे शासकगणोंको अब हिन्दुओंने मिलकर सत्ताच्युत करना चाहिए !
———-
३. चीनके दो औद्योगिक संस्थानोंने (कम्पनियोंने) ब्रिटेनको निकृष्ट स्तरके २० लक्ष (लाख) परीक्षण उपकरण (टैस्टिंग किट) विक्रय किए हैं ! इससे ब्रिटेनको दो कोटि ‘डॉलर’की हानि हुई है और इनमेंसे आधेसे अधिक उपकरण ‘ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय’में यूं ही रखे हुए हैं । उल्लेखनीय है कि इससे पूर्व भी चीनद्वारा अनेक देशोंको घटिया चिकित्सा उपकरण सामग्री भेजनेके प्रकरण उजागर हुए हैं !
    अब समय आ चुका है कि विश्वके अन्य देश एकजुट हो चीनका आर्थिक और राजनीतिक बहिष्कार करें एवं चीनपर कडे प्रतिबन्ध लगाकर उन्हें पाठ पढाएं !


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


विडियो

© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution