रामललाके दर्शन कर बोले वसीम रिजवी, ‘पर्सनल लॉ बोर्ड’ व ओवैसी जैसे लोग बिना मूंछके रावण !


अक्तूबर १, २०१८

रामलला दर्शनके लिए सोमवारको अयोध्या पहुंचे ‘शिया सेण्ट्रल वक्फ बोर्ड’के अध्यक्ष वसीम रिजवीने कहा कि रामलला दर्शन मार्गपर रामभक्तोंकी दशा देखकर दुःख होता है । बाबरके पक्षधर राम भक्तोंपर अत्याचार कर रहे हैं ! उन्होंने कहा कि राम मन्दिरका विरोध करने वाले ‘ऑल इण्डिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड’ व असदुद्दीन ओवैसी जैसे लोग रावणके समान हैं, जो कि राम मन्दिरका निर्माण नहीं होने दे रहे हैं !

रिजवीने कहा कि राम मन्दिर निर्माण मेरा लक्ष्य है; इसलिए भगवान राम मेरे स्वप्नमें आए । हमारे मनमें केवल मन्दिर निर्माणकी ही बात चल रही है । यही हमारा लक्ष्य है । उन्होंने कहा कि मन्दिरमें हम भी एक पक्षकार हैं और हमारा पक्ष सशक्त रहेगा !

आपको बता दें कि वसीम रिजवी खुलकर मन्दिर निर्माणका समर्थन करते रहे हैं । इसके लिए वो मुस्लिम कट्टरपन्थियोंके लक्ष्यपर भी रहे हैं । उच्चतम न्यायालय २९ अक्टूबर से प्रकरणपर नियमित सुनवाई करेगा । आशा की जा रही है कि निर्णय लोकसभा मतदान २०१९ से पूर्व तक आ जाएगा ।


“कीचडमें कमल सदृश वसीम रिजवीजीका हृदयसे अभिनन्दन करते हैं । आजके औवैसी व ‘मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड’ सदृश तथाकथित राष्ट्रप्रेमी सरोकार, जिनके प्रत्येक निर्णय पाकिस्तान व अरबसे आते हैं, वे धर्मान्ध राष्ट्रकी एकताके लिए निरन्तर संकट बनते जा रहे हैं एवं इनपर प्रतिबन्ध आवश्यक है”- सम्पादक, वैदिक उपासना पीठ

 

 

स्रोत : अमर उजाला



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


सूचना: समाचार / आलेखमें उद्धृत स्रोत यूआरऍल केवल समाचार / लेख प्रकाशित होनेकी तारीखपर वैध हो सकता है। उनमेंसे ज्यादातर एक दिनसे कुछ महीने पश्चात अमान्य हो सकते हैं जब कोई URL काम करनेमें विफल रहता है, तो आप स्रोत वेबसाइटके शीर्ष स्तरपर जा सकते हैं और समाचार / लेखकी खोज कर सकते हैं।

अस्वीकरण: प्रकाशित समाचार / लेख विभिन्न स्रोतोंसे एकत्र किए जाते हैं और समाचार / आलेखकी जिम्मेदारी स्रोतपर ही निर्भर होते हैं। वैदिक उपासना पीठ या इसकी वेबसाइट किसी भी तरहसे जुड़ी नहीं है और न ही यहां प्रस्तुत समाचार / लेख सामग्रीके लिए जिम्मेदार है। इस लेखमें व्यक्त राय लेखक लेखकोंकी राय है लेखकद्वारा दी गई सूचना, तथ्यों या राय, वैदिक उपासना पीठके विचारोंको प्रतिबिंबित नहीं करती है, इसके लिए वैदिक उपासना पीठ जिम्मेदार या उत्तरदायी नहीं है। लेखक इस लेखमें किसी भी जानकारीकी सटीकता, पूर्णता, उपयुक्तता और वैधताके लिए उत्तरदायी है।

विडियो

© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution