देवभूमिमें बढ रहा जिहादी संक्रमण तो जनताने स्वयं हाथमें लिया विधान !!


मई ३, २०१९

देवभूमि उत्तराखण्डमें बढते हुए मजहबी उन्मादी संक्रमणके विरुद्घ अब वहांकी जनता स्वयं ही खडी होती दिख रही है । कहते हैं कि जब बात अपनी अस्मितापर आ जाती है, तब मानव बलात विधान अपने हाथमें ले लेता है । यही हुआ उत्तराखण्डके पिथौरागढमें, जहां जीशान खान नामक उन्मादी धर्मान्धने एक युवतीसे दुष्कर्मकर उसकी अश्लील वीडियो बनाकर उसके पतिको भेज महिलाके वैवाहिक जीवनमें आग लगानेसे जनाक्रोश भडक गया । सैकडोंकी संख्यामें आक्रोशित लोगोंने जीशानके घरको आग लगा दी ।

देखते ही देखते स्थिति अत्यधिक गम्भीर हो गई तथा बडी संख्यामें लोग एकत्र होने लगे । लोगोंके आक्रोशको देखकर पुलिस प्रशासनके हाथपांव फूल गए । धारचूला थाना पुलिसको स्थितिपर नियन्त्रण करनेके लिए आसपासके थानोंसे पुलिस बल मंगाना पडा तथा विभिन्न संगठनोंके प्रतिनिधियों, आम जनोंके साथ प्रशासनने बैठककर शान्ति बनाए रखनेकी विनती की; परन्तु आक्रोशित लोगोंने क्षेत्रमें चक्का जाम कर दिया ।

जानकारीके अनुसार देहरादूनमें एक विवाहिताने धारचूला निवासी जीशान नामक धर्मान्धपर दुष्कर्मका आरोप लगाया था । विवाहिताके अनुसार जीशानने बलात्कारके पश्चात उसके अश्लील चित्र भी लिए थे, जिसके बलपर वह उसे भयभीतकर बार-बार सम्बन्ध बनाता रहा । एक वर्ष पूर्व उसका विवाह विदेशमें चाकरी करनेवाले युवकसे हुआ । इसके पश्चात जीशानने विवाहिताके पतिको अश्लील चित्र भेज दिए । इसके पश्चात पतिने उसे घरसे बाहर कर दिया । विवाहिताकी परिवादपर देहरादूनमें आरोपी युवकके विरुद्घ परिवाद प्रविष्ट कराई गई है ।


जब यह सूचना स्थानीय लोगोंको मिली तो वे भडक उठे तथा धारचूलामें आक्रोश फैल गया । आक्रोशित लोगोंने जीशानकी दुकानमें तोडफोडकर आग लगा दी, उसके घरमें भी तोडफोड की । आक्रोशित जनता बन्दी बनानेकी मांगको लेकर सडकोंपर प्रदर्शन करती रही; परन्तु जीशान इससे पहले ही भाग गया । प्रकरणकी गम्भीरताको देखते हुए गुरूवार, २ मई प्रातःकाल डीएम एसपी धारचूला पंहुच गए । पुलिसने आरोपीको शीघ्र ही बन्दी बनानेकी बात कही है ।

 

“यदि हिन्दू समाज पहले ही सतर्क हो जाए तो धर्मान्धोंको जिहादका अवसर ही नहीं मिलेगा । पुलिस प्रशासनने कार्यवाहीमें देरी की तो यह स्थिति निर्मित हुई कि हिन्दुओंको एकत्र होकर विधानके विपरित जाना पडा; परन्तु एक चीज जो हुई, वह यह कि सम्भवतः प्रथम बार सामान्य हिन्दू जिहादी उन्मादियोंके विरुद्घ एकत्र होकर इतने उग्र हुए हैं कि जिहादीको भागना पडा ! हम विधान तोडनेका समर्थन नहीं करते; परन्तु विधान जब कार्यवाही नहीं करेगा तो क्या न्यायके लिए सामान्यजनको आगे नहीं आना होगा ? यदि हिन्दू एकत्र रहेंगें और अनुचित कृत्योंके विरुद्घ कमसे कम आवाज भी उठाएंगें तब भी कोई भी जिहादी जिहादका स्वप्न देखनेसे भी भयभीत होगा ! ”- सम्पादक, वैदिक उपासना पीठ



स्रोत : सुदर्शन न्यूज



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


विडियो

© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution