दिव्यात्माओंके अभिज्ञान हेतु साधना चाहिए


विषयासक्तिविहीन जीवनमुक्त दिव्यात्माएं स्वच्छन्द पंछी समान सम्पूर्ण ब्रह्माण्डमें स्थूल और सूक्ष्म स्तरोंपर विचरण करतीं हैं; परन्तु उनके दर्शन एवं अभिज्ञान (पहचान) हेतु साधनाका ठोस आधार चाहिए !



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


विडियो

© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution