झारखण्डमें मुसलमानोंने आतंकियों समान, पशुवध रोकने गई पुलिसपर विस्फोटक फेंके !


अगस्त २३, २०१८

झारखण्डके पाकुडके महेशपुरा क्षेत्रके डांगापाडा गांवमें प्रतिबन्धित पशुवधको रोकने गए पुलिस कर्मियोंपर भीडने पथराव कर दिया । उग्र भीडने पुलिस निरीक्षक रामेश्वर प्रसाद और थाना प्रभारी उमेश प्रसादको भी खदेड़कर पीटा ! ग्रामीणोंकी पिटाईसे एसआई नन्दकुमार सिंह, हवलदार संजय कुमार यादव और वाहन चालक माया शंकर सिंह गम्भीर रूप से चोटिल हो गए ।

इसके पश्चात लोगोंने सडक जामकर उत्पात आरम्भ कर दिया । पुलिसके समझानेपर वो और उग्र हो गए ! इतना ही नहीं, उन्होंनें घेरावकर पथराव आरम्भ कर दिया और दो विस्फोटक भी फेंके ! पत्थरबाजीमें हिरणपुर थाना प्रभारी अवधेश कुमार सिंह और पीसीआर वैनका चालक चोटिल हो गए । स्थिति बिगडते देख पुलिसने लाठीचार्ज किया और आंसू गैसके गोले दागे । इसके पश्चात भी भीड तितर-बितर नहीं हुई, तो पुलिसने हवामें गोलीबारी की ।

पुलिसका कहना है कि प्रतिबन्धित पशुवधको लेकर पहले ही लोगोंको सूचना दे दी गई थी । इसके पश्चात कुछ स्थानीय लोग सार्वजानिक स्थलपर खुले रूपसे पशुओंका वध कर रहे थे । इस पर जब पुलिस गांव पहुंची, तो वहां जमा लोगोंने पुलिसपर आक्रमण कर दिया ! पुलिस प्रकरणकी छानबीन कर रही है । प्रशासनका कहना है कि दोषियोंको छोडा नहीं जाएगा ।

 

“पशुवध सदृश जघन्य अपराध रोकने पर ऐसा कृत्य आतंकवाद ही कहलाता है । शासनने इन आतंकी कठमुल्लोंको देश निकाला देना चाहिए” – सम्पादक, वैदिक उपासना पीठ ।

 

स्रोत : आजतक



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


सूचना: समाचार / आलेखमें उद्धृत स्रोत यूआरऍल केवल समाचार / लेख प्रकाशित होनेकी तारीखपर वैध हो सकता है। उनमेंसे ज्यादातर एक दिनसे कुछ महीने पश्चात अमान्य हो सकते हैं जब कोई URL काम करनेमें विफल रहता है, तो आप स्रोत वेबसाइटके शीर्ष स्तरपर जा सकते हैं और समाचार / लेखकी खोज कर सकते हैं।

अस्वीकरण: प्रकाशित समाचार / लेख विभिन्न स्रोतोंसे एकत्र किए जाते हैं और समाचार / आलेखकी जिम्मेदारी स्रोतपर ही निर्भर होते हैं। वैदिक उपासना पीठ या इसकी वेबसाइट किसी भी तरहसे जुड़ी नहीं है और न ही यहां प्रस्तुत समाचार / लेख सामग्रीके लिए जिम्मेदार है। इस लेखमें व्यक्त राय लेखक लेखकोंकी राय है लेखकद्वारा दी गई सूचना, तथ्यों या राय, वैदिक उपासना पीठके विचारोंको प्रतिबिंबित नहीं करती है, इसके लिए वैदिक उपासना पीठ जिम्मेदार या उत्तरदायी नहीं है। लेखक इस लेखमें किसी भी जानकारीकी सटीकता, पूर्णता, उपयुक्तता और वैधताके लिए उत्तरदायी है।
© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution