बंगाल: विद्यालयकी पुस्तकमें मिल्‍खा सिंहके स्थानपर अपने चित्रपर अभिनेता फरहान अख्‍तर भडके


अगस्त १९, २०१८

पश्चिम बंगालमें छात्रोंके मध्य पढाई जा रही एक पुस्तकमें शर्मनाक रूपसे चूक की गई है ! पुस्तकमें मिल्खा सिंहको दिखानेके लिए फरहान अख्तरके चित्रका प्रयोग किया गया है । प्रख्यात खिलाडी मिल्खा सिंहपर निर्देशित चलचित्र ‘भाग मिल्खा भाग’में बॉलीवुड अभिनेता फरहान अख्तरने मुख्य पात्र किया था । राकेश ओमप्रकाश मेहराके निर्देशनमें बने इस चलचित्रने तब कई पुरस्कार अपने नाम किए थे । इसी चलचित्रमें फरहान अख्तरद्वारा किए पात्रका चित्र बंगालकी पुस्तकमें छाप दिया गया । यह प्रकरण तब उजागर हुआ, जब एक ‘ट्विटर’ उपभोक्ताने ‘ट्वीट’ कर इस चूकको सार्वजनिक किया । ‘ट्विटर’ उपभोक्ता लाइफ घोसने पुस्तकमें की चूकको सांझा करते हुए लिखा, ‘पश्चिम बंगालकी पुस्तकमें मिल्खा सिंहके स्थानपर फरहान अख्तरका चित्र लगाया गया है । यह अचम्भित करने वाला नहीं है, ये यहां नियमित घटना बन गई है !’

दूसरी ओर जैसे ही फरहान अख्तरको इस चूकके सम्बन्धमें ज्ञात हुआ तो उन्होंने तुरन्त ‘ट्वीट’ कर पश्चिम बंगालके शिक्षा मन्त्रीसे समूचे प्रकरणमें दखल देनेको कहा । ‘ट्वीट’में उन्होंने लिखा कि पश्चिम बंगालकी पुस्तकमें मिल्खा सिंहको दिखानेके लिए चित्रको लेकर कुछ चूकें की गई है ! क्या आप प्रकाशकसे इस पुस्तकको ठीक करने और बदलनेके लिए अनुरोध कर सकते हैं ?

बॉलीवुड अभिनेताने ‘ट्वीट’में टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रेनको भी टैग किया है । टीएमसी सांसदने भी उनके ‘ट्वीट’का उत्तर दिया हैं । उन्होंने लिखा, ‘प्रतिक्रियाके लिए धन्यवाद !’ दूसरी ओर सामाजिक प्रसार माध्यम उपभोक्ताने पुस्तकमें इस चूकको लेकर राज्य शासनकी आलोचना की है । एक ट्वीटमें लिखा गया कि यह पुस्तक बच्चोंके भविष्यके साथ खेल रही है !

देखें ‘ट्वीट्स’ –

To the Minister of School Education, West Bengal.
There is a glaring error with the image used in one of the school text books to depict Milkha Singh-ji. Could you please request the publisher to recall and replace this book?
Sincerely. @derekobrienmp https://t.co/RV2D3gV5bd

— Farhan Akhtar (@FarOutAkhtar) August 19, 2018

स्रोत : जनसत्ता



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सम्बन्धित लेख


सूचना: समाचार / आलेखमें उद्धृत स्रोत यूआरऍल केवल समाचार / लेख प्रकाशित होनेकी तारीखपर वैध हो सकता है। उनमेंसे ज्यादातर एक दिनसे कुछ महीने पश्चात अमान्य हो सकते हैं जब कोई URL काम करनेमें विफल रहता है, तो आप स्रोत वेबसाइटके शीर्ष स्तरपर जा सकते हैं और समाचार / लेखकी खोज कर सकते हैं।

अस्वीकरण: प्रकाशित समाचार / लेख विभिन्न स्रोतोंसे एकत्र किए जाते हैं और समाचार / आलेखकी जिम्मेदारी स्रोतपर ही निर्भर होते हैं। वैदिक उपासना पीठ या इसकी वेबसाइट किसी भी तरहसे जुड़ी नहीं है और न ही यहां प्रस्तुत समाचार / लेख सामग्रीके लिए जिम्मेदार है। इस लेखमें व्यक्त राय लेखक लेखकोंकी राय है लेखकद्वारा दी गई सूचना, तथ्यों या राय, वैदिक उपासना पीठके विचारोंको प्रतिबिंबित नहीं करती है, इसके लिए वैदिक उपासना पीठ जिम्मेदार या उत्तरदायी नहीं है। लेखक इस लेखमें किसी भी जानकारीकी सटीकता, पूर्णता, उपयुक्तता और वैधताके लिए उत्तरदायी है।

विडियो

© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution