प्रखर हिन्दू समाचार

इस्लामिक ध्वजके साथ स्वागत करवानेवाले गांधी एकाएक बने हिन्दू, धोती पहन किया ‘बलि-तर्पणम्’ !!


अप्रैल १७, २०१९ कांग्रेस प्रमुख राहुल गांधीने अपने पिता और पूर्व प्रधानमन्त्री राजीव गांधीके अस्थि कलशको केरलके वायनाड स्थित पापनाशिनी नदीमें विसर्जित किए जानेके लगभग तीन दशक पश्चात बुधवार, १७ अप्रैलको उसके तटपर उन्हें और अपने अन्य पूर्वजोंके लिए ‘बलि तर्पणम’ अनुष्ठान किया । उन्होंने गत सात पीढियोंके पूर्वजोंके प्रति श्रद्धा व्यक्त करते हुए यह […]

आगे पढें

मुगलोंद्वारा विकृत श्रीराम पुत्र कुशकी नगरीका होगा नाम परिवर्तित !!


अप्रैल १, २०१९ उत्तर प्रदेशके राज्यपाल राम नाईकने मुख्यमन्त्री योगी आदित्यनाथको सुल्तानपुर जनपदका नाम परिवर्तन करनेके लिए पत्र लिखा है । इस पत्रमें उन्होंने ‘राजपूताना शौर्य फाउंडेशन’की मांगका वर्णन करते हुए मुख्यमन्त्री योगीसे सुल्तानपुर जनपलका नाम परिवर्तितकर कुशभवनपुर करनेकी मांग की है । राम नाईकने पत्रमें लिखा, “राजपूताना शौर्य फाउंडेशनके प्रतिनिधि मंडलद्वारा मुझसे भेंटकर एक […]

आगे पढें

भारतीय समृद्ध इतिहास, सम्राट अशोकने रोबोटोंसे लडा था युद्ध, वैज्ञानिक सोचमें हिन्दू ग्रन्थ था विश्व-गुरु !!


मार्च ३१, २०१९ एड्रियेन मयोर प्राचीन विज्ञानकी इतिहासकार हैं, दंतकथाओंमें रुचि रखती हैं और अमेरिकाके प्रतिष्ठित स्टैनफोर्ड विश्विद्यालयमें शोध छात्रा हैं । ‘सन्डे टाइम्स’ समाचारपत्रसे बात करते हुए उन्होंने बताया कि कैसे हिन्दू मिथकोंमें सम्राट अशोकके रोबोटोंसे युद्ध करनेका वर्णन है । अपनी कृति ‘Gods and Robots: Myths, Machines, and Ancient Dreams of Technology’में मयोर […]

आगे पढें

विद्युत संकटसे निपटनेके लिए भगवानकी शरणमें श्रीलंकाकी कम्पनी !!


मार्च ३०, २०१९   श्रीलंकामें जारी बिजली संकटसे निपटनेके लिए शासकीय विद्युत कंपनी अब भगवानकी शरणमें जा रही है । कंपनीने गुरूवार, २८ मार्चको ईश्वरसे सहायता मांगनेके लिए बौद्धोंके लिए पवित्र माने जानेवाले ‘श्री महाबोधि वृक्ष’की पूर्जा अर्चनाके लिए भेजा है । कंपनीको आशा है कि इससे विद्युत संकटको शीघ्र ही समाप्त किया जा सकेगा […]

आगे पढें

‘फेसबुक’ने कश्मीरको बताया पृथक, विरोधके पश्चात क्षमा मांंगी !


मार्च २८, २०१९ फेसबुकने भारतके अभिन्न अंग जम्मू कश्मीरको पृथक देश बतानेके पश्चात अपने इस कृत्यपर क्षमा मांग ली है । सामाजिक जालस्थलके सुरक्षा नियक प्रमुख नैथनियल ग्लेचरने बुधवार, २७ मार्च २०१९ को एक ‘ब्लॉग’के माध्यमसे कश्मीरको पृथक देश बताया था । उन्होंने कश्मीरको भारतसे स्वतंत्र एक पृथक राष्ट्र बताया था । लोगोंद्वारा आपत्ति प्रकट […]

आगे पढें

‘रामकी जन्मभूमि’ चलचित्रको लेकर याकूब हबीबुद्दीनको लगी देहली उच्च न्यायालयकी फटकार !!


मार्च २९, २०१९ स्वयंको मुगल वंशजके रूपमें दावा करनेवाले याकूब हबीबुद्दीन तुसीको देहली उच्च न्यायालयने फटकार लगाते हुए सहिष्णु बने रहनेका परामर्श दिया है । प्रकरण ‘रामकी जन्मभूमि’ चलचित्रको लेकर है, जिसमें तुसीने चलचित्र प्रकाशनको रोकनेकी मांग की है । इसपर न्यायाधीश विभू बाखरूका कहना था कि उचित और अनुचितसे परे न्यायालय उस विचारके साथ […]

आगे पढें

धर्मांतरणको लेकर पाकिस्तानी संसदमें हिन्दू नेताने उठाई आवाज !!


मार्च २७, २०१९ पाकिस्तानमें दो हिन्दू युवतियोंका बलात धर्मान्तरणकी घटनाके पश्चात हिन्दू सांसद डॉ. रमेश कुमार वांकवानीने पाकिस्तानी संसदमें धर्मान्तरण, बाल विवाह और अल्पसंख्यकोंकी सुरक्षाके लिए प्रस्ताव प्रस्तुत किए । उनके प्रस्तावको पीटीआई, पीएमएलएन, पीपीपीपी सहित कई दलोंका समर्थन मिला । डॉ. रमेश वांकवानीने ‘बाल विवाह निरोधक अधिनियम’में (संशोधन २०१९) बलात विवाह (एक या दोनों […]

आगे पढें

‘शारदापीठ कॉरिडोर’के लिए पाकिस्तान शासनने दी स्वीकृति !!


मार्च २५, २०१९   ‘करतारपुर कॉरिडोर’के पश्चात पाकिस्तान शासनने ‘शारदापीठ कॉरिडोर’के लिए भी स्वीकृति दे दी है । कश्मीरी पण्डितोंकी ओरसे लम्बे समयसे इस ‘कॉरिडोर’को खोलनेकी मांग हो रही थी । समाचार विभाग ‘एएनआई’ने पाक मीडियाके माध्यमसे यह समाचार दिया है । यह स्थान मुजफ्फराबादसे लगभग १६० किमी दूर सीमाके पास छोटेसे गांवमें स्थित है […]

आगे पढें

महमूद मदनीका प्रखर वक्तव्य, अयोध्या विवादित ढांंचा मस्जिद नहीं, घर या मंदिरको छीनकर अल्लाहका घर नहीं बनाया जा सकता !!


मार्च २४, २०१९ अयोध्यामें चल रहे मंदिर-मस्जिद विवादमें मस्जिद पक्षको गहरा झटका लगा है । देशमें मुसलमानोंकी शीर्ष संस्थाओंमेंसे एक जमीयत ‘उलेमा-ए-हिन्द’के महासचिव मौलाना महमूद मदनीने कहा है कि अयोध्याके विवादित ढांचेको मस्जिद नहीं माना जा सकता । मदनीने यह भी कहा कि श्रीराम देशकी बहुसंख्यक आस्थाके प्रतीक हैं । मुसलमानोंद्वारा श्रीरामके अनादरके बारेमें उन्होंने […]

आगे पढें

देहलीकी मस्जिदके ध्वनिप्रसारक यन्त्रोंसे लोग त्रस्त, न्यायालयसे बन्द करवानेकी विनती !


मार्च २२, २०१९   राष्ट्रीय हरित अधिकरणने (एनजीटी) कहा है कि निर्धारित मानदंडोंसे अधिक ध्वनि प्रदूषण एक गम्भीर और दण्डनीय अपराध है ।  इसके साथ ही अधिकरणने पुलिससे कहा है कि वह ऐसे स्थानोंका अभिज्ञान करे और उल्लंघनकर्ताओंके विरुद्ध कडी कार्यवाहीके लिए एक निगरानी प्रणाली स्थापित करे । निकायके अध्यक्ष न्यायमूर्ति आदर्श कुमार गोयलकी अध्यक्षतावाली […]

आगे पढें

© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution