प्रखर हिन्दू समाचार

मुख्यमन्त्री योगी आदित्यनाथके भयके प्रभावसे अपराधी ५ जिहादी अपराधियोंने किया ‘पुलिस’को समर्पण


०६ जुलाई, २०२१           विगत अनेक दिवसोंसे ‘फरार’ चल रहे उत्तर प्रदेशके ५ कुख्यात अपराधियोंने मुख्यमन्त्री योगी आदित्यनाथके भयसे सोमवार, ५ जुलाईको शामली जनपदमें ‘पुलिस’को आत्मसमर्पण कर दिया । ‘पुलिस’के सामने आनेसे पूर्व अपराधियोंने कहा कि वे सभी आपराधिक गतिविधियोंको त्यागना चाहते हैं; इसलिए उन्होंने आत्मसमर्पण करनेका निर्णय लिया है । […]

आगे पढें

उत्तर प्रदेशमें दुग्ध उत्पादनने बहाई उपजीविकाकी धारा, ग्रामीण क्षेत्रोंमें पशुपालकोंकी सङ्ख्यामें वृद्धि 


२ जुलाई, २०२१              राज्य शासनके प्रयासोंसे दुग्ध उत्पादनमें उत्तर प्रदेश अब देशमें प्रथम स्थानपर है । अमूल सहित ६ निवेशकोंने प्रदेशमें ‘डेयरी प्लांट’ स्थापित करनेके लिए १७२ करोडका निवेश किया है तथा १५ निवेशकोंने इसके लिए प्रस्ताव दिया है । भारतके दुग्ध उत्पादनका १७% उत्तरप्रदेशमें हो रहा है । […]

आगे पढें

उत्तरप्रदेशमें अब अवैध मजारें नही दिखेंगी 


१४ मार्च, २०२१ समाचारके अनुसार उत्तर प्रदेश शासनने मार्गोंके मध्य और मार्ग बाधित कर रहे हैं सभी अवैध धार्मिक स्थलोंको हटानेका आदेश दिया है और प्रशासनद्वारा इस निर्णयपर क्रियान्वयन करते हुए अनेक नगरोंसे अवैध कब्रों और मार्गोंपर बने अवैध मन्दिरोंको हटानेका कार्य आरम्भ कर दिया गया है । पहली कार्यवाही बाराबंकी जनपदमें मार्गके मध्य स्थित […]

आगे पढें

मुख्यमन्त्री योगी आदित्यनाथने धर्मनिरपेक्षताको बताया भारतकी समृद्ध परम्पराके प्रसारका संकट


०९ मार्च, २०२१        उत्तर प्रदेशके मुख्यमन्त्री योगी आदित्यनाथने ‘रामायण विश्व महाकोष’ ( ‘ग्लोबल इनसाइक्लोपीडिया ऑफ द रामायण’ ) नामक पुस्तकके विमोचनके मध्य जनसमूहको सम्बोधित करते हुए धर्मनिरपेक्षताके (सेकुलरिज्मके) विषयमें कुछ ऐसे तथ्य कहे, जो वामपन्थी समूहको पीडा भी पहुंचा सकते हैं । उन्होंने कंबोडियाके अंकोरवाट मन्दिरके विषयमें एक युवकसे चर्चा की तथा […]

आगे पढें

शाहीनबाग सहित कई अन्य ठिकानोंपर, ‘पीएफआई’के कार्यालयोंपर हुई छापामारी


२२ फरवरी, २०२१  उत्तर प्रदेशकी पुलिसने ‘पीएफआई’के कई कार्यालयोंपर छापे मारे हैं । इन कार्यालयोंको विदेशी उपद्रवियोंसे अवैध धन प्राप्त हुआ था । इनमें शाहीनबागका कार्यालय विशेष रहा । ‘पीएफआई’का यह कार्यालय वहींपर स्थित है, जहांपर ‘सीएए’के विरोधमें मुसलमान महिलाओंको बैठाकर, विरोध प्रदर्शन कराया गया था ।  उत्तर प्रदेश शासनके एक विशेष शक्ति संगठनद्वारा केरलसे […]

आगे पढें

जिस लुटेरेने मठ-मन्दिर तोडे, उसके नामसे नगरका नाम स्वीकार नहीं, होशंगाबाद हुआ नर्मदापुरम – शिवराज सिंह चौहान


२१ फरवरी, २०२१   मां नर्मदाके उद्गम स्थल अमरकंटकमें नर्मदा जयन्तीके एक कार्यक्रममें मध्य प्रदेशके मुख्यमन्त्री शिवराज सिंह चौहानने मध्य प्रदेशके एक नगर होशंगाबादका नाम परिवर्तित कर ‘नर्मदापुरम’ करनेकी घोषणा की ।   उन्होंने कहा कि त्वरित ही केन्द्रको होशंगाबादका नाम परिवर्तित करनेके लिए प्रस्ताव भेजा जाएगा और कहा कि लुटेरे ‘हुशंगशाह’के नामसे होशंगाबादको नहीं […]

आगे पढें

६० वर्षसे कन्दरामें रह रहे ८३ वर्षके संन्यासी शंकर दासने राम मन्दिर निर्माण समितिको दिए १ करोड रुपये


३१ जनवरी, २०२१  अयोध्यामें भव्य श्रीराम मन्दिर निर्माणके लिए ऋषिकेश नीलकण्ठ मार्गपर कन्दरामें रहनेवाले ८३ वर्षीय सन्त स्वामी शंकर दासने एक करोड रुपयेका दान दिया है । स्वामी शंकर दास महाराज टाटवाले बाबाके नामसे भी विख्यात हैं । स्‍वामी शंकरदासने अपने गुरु टाटवाले बाबाकी कन्दरामें मिलनेवाले श्रद्धालुओंके दानसे यह धनराशि जोडी थी । स्वामी शंकर […]

आगे पढें

राम मन्दिर व इन्द्रप्रस्थकी वैज्ञानिक पद्धतिसे खोज करनेवाले बृजबासी लाल पद्म भूषणसे हुए सम्मानित


२७ जनवरी, २०२१         केन्द्र शासनद्वारा जिन सात व्यक्तियोंको इस वर्ष भारतके दूसरे सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म विभूषणसे अलंकृत किया गया है उनमें प्राध्यापक (प्रोफेसर) बृजबासी लालका नाम भी सम्मिलित है । उनके विषयमें सबसे महत्त्वपूर्ण तथ्य यह है कि उन्होंने ही बाबरी ढांचेके नीचे राम मन्दिरके होनेकी पुष्टि की थी । […]

आगे पढें

भारत हिन्दू विश्वविद्यालयमें हिन्दू धर्मके परम्परागत सभी विषयोंपर छात्रोंको किया जाएगा सम्पन्न


१६ जनवरी, २०२१        काशीके हिन्दू विश्वविद्यालयमें पुनः छात्रोंको सभी प्राचीन विद्याएं पढाई जाएंगी । इन प्राचीन विद्याओंमें वेद, पुराण, सभी ग्रन्थ, शास्त्र तथा हिन्दू धर्म आधारित अन्य सभी पाठ्यक्रम सम्मिलित होंगे । प्राध्यापक विजय बहादुर सिंहकी अध्यक्षतामें स्थानीय तथा देश-विदेशके आचार्योंने सम्मिलित होकर इसका पाठ्यक्रम बनाया है, जिसे कला संकायने ‘बोर्ड ऑफ […]

आगे पढें

कर्नाटकमें निर्धन कन्याओंको ₹२५००० व पुजारियोंसे विवाह करनेपर ३ लाख रुपये मिलेंगे


०८ जनवरी, २०२१      गत वर्ष ही येदियुरप्पा शासनद्वारा स्थापित ‘कर्नाटक राज्य ब्राह्मण विकास बोर्ड’के अन्तर्गत आर्थिक रूपसे निर्धन ‘EWS’ ब्राह्मणोंके लिए ‘पायलट प्रोजेक्ट’के रूपमें दो योजनाएं आरम्भ की गई हैं, ‘अरुंधती’ और ‘मैत्रेयी’ । इन योजनाओंका उद्देश्य इस स्तरकी नवविवाहिताओंको आर्थिक लाभ उपलब्ध कराना है । कर्नाटकमें ६ कोटिकी जनसङ्ख्यामेंसे लगभग ३% ब्राह्मण […]

आगे पढें

© 2021. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution