अध्यात्म

उत्तराधिकारी घोषित करनेके सम्बन्धमें संतों और आजके राजनेताओंमें भेद !


अध्यात्म प्रसारके मध्य पिछले कुछ वर्षोंमें कुछ खरे संतोंके आश्रमोंसे परिचय हुआ है और मैंने पाया है कि जब उस आश्रमके मुखिया पदपर आसीन संतको यदि कोई योग्य उत्तराधिकारी नहीं मिलते हैं तो वे अपने देह-त्यागके पश्चात उनकेद्वारा किया जा रहा धर्मकार्य निर्विघ्न होता रहे, इस हेतु एक न्यासकी स्थापना कर, सर्वकार्य न्यासके योग्य सदस्योंको […]

आगे पढें

सांसारिक वस्तुसे प्राप्त होनेवाले सुखकी अपेक्षा साधनासे प्राप्त होनेवाले आनंदका अधिक महत्त्व होना!


सांसारिक वस्तुसे प्राप्त होनेवाले सुखकी अपेक्षा साधनासे प्राप्त होनेवाले आनंदका अधिक महत्त्व है, किन्तु यह वही समझ सकता है जो साधनारत है | बुद्धिसे इस तथ्यको समझना सम्भव नहीं !

आगे पढें

आटेका पलथन रोटी बनानेके पश्चात पुनः आटेके पात्र, टिन, डब्बा इत्यादिमें डालनेसे भण्डार होता है अशुद्ध !


कुछ स्त्रियां आटेका पलथन रोटी बनानेके पश्चात उसे पुनः आटेके पात्र, टिन, डब्बा इत्यादिमें डाल देती हैं इससे भण्डार अशुद्ध……

आगे पढें

मात्र साधनाद्वारा प्राकृतिक आपदाओंको टाला जा सकता है


विज्ञान चाहे जितनी भी प्रगति कर ले, प्राकृतिक आपदाओंको न ही रोक सकता है और न ही नियन्त्रित कर सकता है, मात्र और मात्र साधनाद्वारा पञ्च तत्त्व एवं उसके अधिष्ठाता देवताओंको प्रसन्न कर ही प्राकृतिक आपदाओंको टाला जा सकता है; किन्तु निधर्मी समाजको यह बात कहां समझमें आती है ! (६.५.२०१८)

आगे पढें

मांसाहार क्यों न करें ? (भाग – १५)


मांस खानेवाले प्राणियोंकी आंतोंसे मनुष्य और अन्य शाकाहारी प्राणियोंकी आंतें छोटी होती हैं । मांसाहारी प्राणियोंकी आंतें लम्बी होती हैं। वह मांसाहारी प्राणियोंके पाचन तंत्रमें…..

आगे पढें

वास्तुशास्त्रके अनुसार कौनसे वृक्ष या पौधे लगाए जा सकते हैं ? (भाग – ६)


वास्तुशास्त्र अनुसार केलेके पौधेको भी शुभ माना गया है । केला एक दिव्य गुणोंसे भरा सात्त्विक एवं औषधीय पौधा है । शास्त्रोंमें तुलसीके पश्चात केलेके पौधेको अत्यंत शुभ…..

आगे पढें

वास्तुशास्त्रके अनुसार कौनसे वृक्ष या पौधे लगाए जा सकते हैं ? (भाग – ५)


शमीका वृक्ष वास्तुके लिए उत्तम होता है । नवग्रहोंमें शनि महाराजको न्यायाधीशका स्थान प्राप्त है; इसलिए जब शनिकी दशा आती है तब अच्छे बुरे कर्मोंका यथोचित फल प्राप्त होता है…..

आगे पढें

वास्तुशास्त्रके अनुसार कौनसे वृक्ष या पौधे लगाए जा सकते हैं ? (भाग – ४)


घरके पूर्व, उत्तर और पूर्वोत्तरमें गेंदा, गुडहल, पाटल(गुलाब), चम्पा, स्वर्णचम्पा, नागचम्पा, चमेली, जाई, जूही, बेला, रात-रानी, अपराजिता, हरसिंगारके पौधे लगाना अच्छा…..

आगे पढें

वास्तुशास्त्रके अनुसार कौनसे वृक्ष या पौधे लगाए जा सकते हैं ? (भाग – ३)


तुलसी वास्तुको शुद्ध और पवित्र करती है । तुलसीका पौधा कल्याणकारी, बहु उपयोगी, पवित्र एवं शुभ माना जाता है । घरमें आनेवाली वायुमें सकारात्मक ऊर्जा बढाने हेतु तुलसीके…..

आगे पढें

वास्तुशास्त्रके अनुसार कौनसे वृक्ष या पौधे लगाए जा सकते हैं ? (भाग – २)


वास्तुशास्त्रके अनुसार जिस प्रकार घरका हर भाग हमारे जीवनको प्रभावित करता है, उसी प्रकार घरमें सजावटके लिए रखे गए पौधे या जीवनोपयोगी पौधे अथवा वृक्ष भी हमारे जीवनपर….

आगे पढें

© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution