हिन्दू राष्ट्र

देशकी जनताकी मूर्खता व स्वार्थी वृत्ति !


इस देशकी जनताकी मूर्खता व स्वार्थी वृत्ति, राज्यकर्ताओंको चुननेमें तो सर्व विदित है; किन्तु आज जब समाज एक भयावह महामारीसे ग्रसित हो सकता है तो भी कुछ मूढ अपने प्राणोंके साथ ही अन्योंके……

आगे पढें

देहलीमें हुई सांप्रदायिक उत्पातसे कुछ तथाकथित हिन्दुओंके नेत्र तो निश्चित ही खुले होंगे ! 


देहलीमें हुई सांप्रदायिक उत्पातके मध्य धर्मान्धोंके सर्व कुकृत्य सामाजिक अंतर्जालपर (सोशल नेटवर्किंगपर) उजागर हो गए हैं ! अन्यथा आज भी कश्मीर जैसे ही या तो हमें कुछ बताया ही नहीं जाता या कुछ उलटा ही बताया जाता जो आज भी कुछ देशद्रोही बिके हुए न्यूज़ चैनल कर रहे हैं ! अच्छा है,  सभीके न सही […]

आगे पढें

भारतकी राजधानीमें अराजकता!


भारतकी राजधानीमें अराजकता देखकर आप समझ सकते हैं कि हम सब अब कितने सुरक्षित हैं ! हिन्दुओ, जागो कहीं देर न हो जाए !

आगे पढें

आए दिन बच्चियोंके साथ नृशंस बलात्कार – अत्यन्त लज्जास्पद !


जिस देशमें नारीको देवीके रूपमें पूजनेकी संस्कृति रही है, उस देशमें आए दिन बच्चियोंके साथ नृशंस बलात्कार होनेके समाचार आना, यह बताता है कि इस देशमें नैतिकताका कितना पतन हुआ है, तब भी राज्यकर्ता कुछ ठोस उपाययोजना नहीं निकाल पा रहे हैं, यह अत्यन्त लज्जास्पद तथ्य है और इससे भी निकृष्ट बात है यह कि […]

आगे पढें

समाजको दिशाहीन करनेवाले धर्मगुरु !


आज गुरुपदपर विराजमान कुछ कथावाचकों एवं तथाकथित सन्तोंके भक्तोंकेद्वारा शंका समाधान सुनकर एक बात तो समझमें आती है कि इन्हें सूक्ष्मका अंशमात्र भी ज्ञान नहीं है ! एक ऐसे ही मार्गदर्शकने अपने भक्तोंको बताया कि पूर्वकालमें हिन्दू पितृपक्षके….

आगे पढें

आगामी सात्त्विक कालमें जन्मलेने दैवी बालककी विशेषता


इस माह १ सितम्बरको ऑस्ट्रियामें हुए सत्संगमें आये हुए एक हिन्दुत्वनिष्ठकी नतनीको देखा तो ज्ञात हुआ कि वह  (बेटीकी बेटी) दैवी बालक-बालिकाओंकी श्रेणीमें है । चार वर्षकी वह बच्ची उच्च स्वर्गलोक……

आगे पढें

आपात स्थिति आनेपर ईश्वर सहायता करें इस हेतु भक्त बनें !


कुछ व्यक्तिसे जब पूछते हैं कि आपको उपासनाके कार्यक्रमकी सूचना दी गई थी तो भी आप सेवा हेतु नहीं आए तो वे बताते हैं कि वे फलां-फलां समाजसेवामें व्यस्त थे ! एक बातका सभी साधक ध्यान रखें कि आनेवाले अगले चार-पांच वर्ष सभीके लिए बहुत भारी होंगे……

आगे पढें

आगामी आपातकाल हेतु महत्त्वपूर्ण सूचनाएं


जैसे-जैसे हम आपातकालकी और बढेंगे, प्राकृतिक आपदाओंकी तीव्रता बढती जाएंगी; अतः अभीसे उसकी पूर्वसिद्धता करना अति आवश्यक है । कृपया इस सूचनाओंको संग्रहित कर रखें, उसे आचरणमें लानेका प्रयास करें …….

आगे पढें

आगामी आपातकाल हेतु महत्त्वपूर्ण सूचनाएं (भाग – १)


आगामी कालमें सर्वत्र प्राकृतिक आपदाओंका प्रकोप होगा, यह बात अनके सन्त पिछले अनेक वर्षोंसे समाजको बता रहे हैं; किन्तु मैकाले शिक्षित हिन्दुओंको सन्तोंको इन बातोंपर विश्वास नहीं होता ! पिछले दो माहमें भारतके ६० % भागमें बाढने…..

आगे पढें

प्रकृतिके संकेत समझकर, उसके साथ खिलवाड करनेकी प्रवृत्ति छोड, साधनारत हों !


जब हमारे श्रीगुरु एवं अन्य सन्तवृन्द आनेवाले आपातकालके विषयमें बताते थे तो कुछ निधर्मी एवं तथाकथित बुद्धिजीवी उपहास करते हुए कहते थे यह सब व्यर्थकी बातें हैं | पिछले कुछ दिनोंसे सम्पूर्ण भारतमें भिन्न राज्यों व जनपदोंके जल-प्रलयकी विनाश लीला आजकलके मुख्य समाचार होते हैं ! यह तो मात्र आरम्भिक चरण है यदि समाज शीघ्र […]

आगे पढें

© 2017. Vedic Upasna. All rights reserved. Origin IT Solution